धमकी देने की सजा

धमकी देने कि सजा।

 

आज हम जानेंगे धमकी देने कि सजा क्या है ?धमकी देना कानूनी अपराध है कि नहीं। ipc 1860 में भारत के लोगो दवारा किये गए अपराध के बारे में डिफाइन किया गया है। और इस अपराध के सजा के बारे में बताया गया है। ऐसी ही अपराध में ipc की धारा 504 ,506 लगती है।

ipc की धारा 504 क्या है ?

किसी व्यक्ति को उकसाने के इरादे से जानबूझ कर उसका अपमान करना यह जानते हुए कि ये अपराध का कारण हो सकता है। तब उकसाने वाले व्यक्ति पर ipc कि धारा 504 लगती है।

हमेशा लोग जाने या अनजाने में ये अपराध कर बैठते है। इस अपराध कि सजा दो साल या जुर्माना अथवा दोनों हो सकते है। इसलिए ये धमकी देने वाले अपराध से बचे।

धारा 506 कब लगती है ?

किसी को आपराधिक धमकी देने पर धारा 506 लगती है। जैसे किसी को आग से जलाने कि धमकी देना ,किसी कि संम्पत्ति को नुक्सान पहुँचाना,या किसी इज़्ज़तदार महिला पर किसी प्रकार का लांछन लगाना आदि ऐसे किसी भी क्राइम कि धमकी देने पर जिसमे सात साल कि सजा या उम्र कैद या मौत कि सजा हो सकती है,वाले ऐसे अपराध पर 506 लगती है। ये अपराध साबित हो जाने पर अधिकतम सात साल कि सजा या जुर्माना या फिर दोनों हो सकती है।

हमे इस प्रकार के अपराध करने से बचना चाहिए। ये अपराध कठोर अपराध कि श्रेणी में आते है।